Thread Reader

Lovely

@Lovely92698976

Sep 23

4 tweets
Twitter

उत्तर प्रदेश की विधानसभा में समाजवादी पार्टी की विधायक रागिनी सोनकर ने पुष्यमित्र उपाध्याय की जो रचना पढ़ी उसकी चहुंओर चर्चा है। पढ़ा जाए। छोडो मेहँदी खडक संभालो खुद ही अपना चीर बचा लो द्यूत बिछाये बैठे शकुनि, मस्तक सब बिक जायेंगे सुनो द्रोपदी शस्त्र उठालो,अब गोविंद ना आयेंगे

कब तक आस लगाओगी तुम, बिक़े हुए अखबारों से, कैसी रक्षा मांग रही हो दुशासन दरबारों से स्वयं जो लज्जा हीन पड़े हैं वे क्या लाज बचायेंगे सुनो द्रोपदी शस्त्र उठालो अब गोविंद ना आयंगे कल तक केवल अँधा राजा, अब गूंगा बहरा भी है होठ सी दिए हैं जनता के, कानों पर पहरा भी है 2

तुम ही कहो ये अश्रु तुम्हारे, किसको क्या समझायेंगे ? सुनो द्रोपदी शस्त्र उठालो, अब गोविंद ना आयंगे ✍️पुष्यमित्र उपाध्याय 3

@Thread Reader App please unroll

Lovely

@Lovely92698976

Follow on Twitter

Missing some tweets in this thread? Or failed to load images or videos? You can try to .